क्रोएशिया ने रचा इतिहास, इंग्लैंड को हराकर पहली बार फीफा विश्व कप के फाइनल में पहुंचा

क्रोएशिया ने रचा इतिहास, इंग्लैंड को हराकर पहली बार  फीफा विश्व कप के फाइनल में पहुंचा

क्रोएशिया ने फीफा विश्व कप 2018 के दूसरे सेमीफाइनल मुकाबले में एक बार की विश्व चैंपियन इंग्लैंड को हराकर पहली बार विश्व कप के फाइनल में अपनी जगह पक्की की है। बुधवार को लुजिन्हकी स्टेडियम में खेले गए इस रोमांचक मुकाबले में क्रोएशिया ने इंग्लैंड को 2-1 से मात दी। इस हार के साथ ही इंग्लैंड के विश्व कप के फाइनल में पहुंचने का 52 वर्षों का सपना टूट गया। अब 15 जुलाई को होने वाले फाइनल में क्रोएशिया का मुकाबला फ्रांस से होगा।

इस मुकाबले का पहला हाफ इंग्लैंड के नाम रहा। पहले हाफ के पांचवें मिनट में ही ट्रिपियर ने शानदार गोल दागकर इंग्लैंड को 1-0 की बढ़त दिलाई। दरअसल, लुका मोड्रिक ने ट्रिपियर को गिराया, जिसकी वजह से इंग्लैंड को फ्री किक मिली। मिडफील्डर ट्रिपियर ने बेहतरीन किक जमाकर गेंद को सीधे जाली में भेद दी। इसके साथ ही ट्रिपियर का ये गोल पिछले 12 सालों में किसी इंग्लिश खिलाड़ी का फीफा विश्व कप में फ्री-किक पर पहला गोल साबित हुआ। इससे पहले आखिरी बार ये कमाल 2006 फीफा विश्व कप में इक्वाडोर के खिलाफ इंग्लैंड के पूर्व कप्तान डेविड बेकहम ने किया था।

वहीं, दूसरे हाफ में क्रोएशिया ने अपने खेल में थोड़ी आक्रामकता दिखाई। दूसरे हाफ के 68वें मिनट में इवान पेरिसिच ने शानदार गोलकर क्रोएशियाई टीम के स्कोर को 1-1 की बराबरी पर ला दी। इसके साथ ही दूसरे हाफ का खेल 1-1 की बराबरी पर खत्म हुआ लेकिन नतीजा के लिए यह मुकाबला एक्सट्रा टाइम में चला गया। बता दें कि इस विश्व कप यह तीसरा ऐसा मुकाबला था जो एक्सट्रा टाइम में गया।

एक्सट्रा टाइम के पहले हाफ में दोनों टीमों की तरफ से कोई गोल नहीं हो पाया और स्कोर फिर से 1-1 की बराबरी पर रहा। मगर एक्सट्रा टाइम के दूसरे हाफ में क्रोएशिया के स्टार खिलाड़ी मारियो मैंडजुकिच (109वें मिनट) ने शानदार गोल दागकर क्रोएशिया को 2-1 से बढ़त दिलाई। इसके बाद क्रोएशियाई टीम ने अपना डिफेंस मजबूत रखा और बाकी बचे समय को वैसे ही पास कराया और यह मुकाबला 2-1 से अपने नाम करते हुए फीफा विश्व कप के फाइनल में अपनी जगह पक्की की।

बता दें कि एक बार की विश्व चैंपियन इंग्लैंड 1966 में वेस्ट जर्मनी को 4-2 को हराकर खिताबी जीत हासिल की थी। वहीं, क्रोएशिया ने साल 1998 में सेमीफाइनल तक पहुंची थी लेकिन एक बार की विश्व विजेता फ्रांस के हाथों उसे 1-2 की शिकस्त का सामना करना पड़ा था। वहीं, इंग्लैंड की टीम इससे पहले आखिरी बार 1990 में फीफा विश्व कप सेमीफाइनल में पहुंची थी लेकिन वहां जर्मनी की टीम के खिलाफ उसे करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा था।

Share it
Share it
Share it
Top