मोदी की केदारनाथ यात्रा पर ममता को आपत्ति, चुनाव आयोग से एक्शन लेने की मांग

मोदी की केदारनाथ यात्रा पर ममता को आपत्ति, चुनाव आयोग से एक्शन लेने की मांग

लोकसभा चुनाव 2019 के आखिरी चरण के लिए आज मतदान हो रहा है, देश की 59 सीटों पर वोटिंग जारी है. इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केदारनाथ-बदरीनाथ में पूजा कर रहे हैं. प्रधानमंत्री की इस धार्मिक यात्रा पर तृणमूल कांग्रेस (TMC) ने आपत्ति जताई है. TMC ने आरोप लगाया है कि पीएम की ये यात्रा आचार संहिता का उल्लंघन है.

टीएमसी ने इसको लेकर चुनाव आयोग को भी खत लिख दिया है. टीएमसी की ओर से कहा गया है कि 17 मई को ही चुनाव का प्रचार खत्म हो गया था, लेकिन नरेंद्र मोदी की केदारनाथ यात्रा बीते दो दिनों से लगातार टीवी चैनलों पर छाई हुई है, इससे वोटर प्रभावित हो सकता है. इसी कारण इसे चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन माना जाना चाहिए.

TMC ने कहा कि अपनी यात्रा में प्रधानमंत्री ने केदारनाथ के लिए प्लान का ऐलान भी किया. लोग वहां पर मोदी-मोदी के नारे लगा रहे हैं. पार्टी की ओर से कहा गया है कि पीएम मोदी की ये यात्रा पूरी तरह से फिक्स है और वोटरों को प्रभावित करने के उद्देश्य से तय की गई है.

आपको बता दें कि टीएमसी के अलावा अन्य विपक्षी पार्टियों ने भी प्रधानमंत्री की इस यात्रा पर सवाल खड़े किए हैं और चुनाव आयोग से एक्शन लेने की बात कही है.

गौरतलब है कि इस बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी मतदान हो रहा है, ऐसे में हर किसी की तर्क है कि वह टीवी पर आकर अपने क्षेत्र के साथ-साथ देश के अन्य हिस्सों को भी प्रभावित कर रहे हैं.

प्रधानमंत्री की केदारनाथ यात्रा शनिवार सुबह शुरू हुई थी, जहां उन्होंने पहले केदारनाथ मंदिर में पूजा की थी और उसके बाद एक गुफा में ध्यान लगाने चले गए थे. प्रधानमंत्री रविवार सुबह गुफा से बाहर निकले और केदारनाथ मंदिर में पूजा की. इसके बाद वह बदरीनाथ में पूजा करने के लिए रवाना हो गए.

Share it
Top