शिवराज का दिग्‍व‍िजय पर वार, 'नाम नहीं लूंगा, वरना नहाना पड़ेगा'

शिवराज का दिग्‍व‍िजय पर वार, नाम नहीं लूंगा, वरना नहाना पड़ेगा

राजगढ़ : आम चुनावों के ऐलान के साथ ही विभिन्‍न नेताओं के बीच आरोप-प्रत्‍यारोप का दौर तेज हो गया है। रैलियों में वे जमकर एक-दूसरे पर हमले कर रहे हैं। इसी क्रम में मध्‍य प्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस नेता दिग्‍व‍िजय सिंह पर बड़ा हमला बोला है। उन्‍होंने यह कहते हुए कांग्रेस नेता का नाम भी लेने से मना कर दिया कि अगर उन्‍होंने ऐसा किया तो उन्‍हें नहाना पड़ जाएगा।

शिवराज राजगढ़ में एक रैली को संबोधित कर रहे थे। उन्‍होंने गुरुवार को रैली में कहा, 'एक यहां का ऐसा व्‍यक्ति, जो 10 साल मुख्‍यमंत्री रहा, नाम नहीं लूंगा, नहीं तो मुझे नहाना पड़ेगा, वो शहीदों का अपमान करता है और मोदी जी के विरोध में भारत का अपमान करता है, क्‍या ऐसे लोगों को सहन करोगे?' साफ तौर पर उनका इशारा कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता दिग्जिवय सिंह की ओर था, जो 1993 से 2003 के बीच मध्‍य प्रदेश के सीएम रहे।


मध्‍य प्रदेश में हालिया विधानसभा चुनाव में एक बार फिर कांग्रेस को जीत मिली है। कांग्रेस ने यहां 15 साल बाद बीजेपी को हराकर सत्‍ता में वापसी की है और सीएम कमलनाथ की अगुवाई में सरकार का गठन किया है। मध्‍य प्रदेश की मौजूदा सरकार में दिग्‍व‍िजय हालांकि सरकार में औपचारिक तौर पर शामिल नहीं हैं, पर इसमें उनका अहम दखल माना जाता है।

दिग्‍व‍िजय सिंह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी के खिलाफ लगातार हमलावर रहे हैं। बीते दिनों पुलवामा हमले को लेकर अपने एक बयान को लेकर घिर गए थे, जिसमें उन्‍होंने इसे 'बड़ी दुर्घटना' बोला था। बीजेपी के कई नेताओं ने उन्‍हें 'पाकिस्‍तान समर्थक' और 'एंटी-नेशनल' बताया तो इन आलोचनाओं से बेपरवाह दिग्‍व‍िजय ने पीएम मोदी को अपने खिलाफ केस दर्ज करने की चुनौती तक दे डाली।

Share it
Share it
Share it
Top