टीकाकरण के नाम पर ठगी करने वाले के विरुद्ध चिकित्सा अधीक्षक ने दी कोतवाली में तहरीर

टीकाकरण के नाम पर ठगी करने वाले के विरुद्ध  चिकित्सा अधीक्षक ने दी कोतवाली में तहरीर

बिलारी। क्षेत्र में टीकाकरण के नाम पर ठगी करने वाला गिरोह काफी समय से सक्रिय है। यह लोग कभी शासन से कभी सीएमओ से दी गई फर्जी परमिशन दिखाकर कैंप लगाते हैं और मोटी रकम ऐठ कर फरार हो जाते है। इसमें स्वास्थ विभाग के लोगों को भी गुमराह करके व हड़का कर सहयोग ले लेते हैं।ऐसा ही एक मामला आज सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के चिकित्सा अधीक्षक के पकड़ में आ गया। कुछ लोग टीकाकरण की परमिशन लिखित में देने के लिए दबाव बना रहे थे। दबाव में ना आने पर उन्होंने स्टाफ के साथ अभद्रता की तथा झगड़े पर उतारू हो गए। चिकित्सा अधीक्षक के नेतृत्व में सभी डॉक्टरों ने कोतवाली प्रभारी निरीक्षक से भेंट की। एक पत्र देकर उक्त लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कड़ी कार्रवाई करने की मांग की। पत्र में कहा गया कि हिमांशु पुत्र कुमार पाल ग्राम मंगूपुरा का निवासी है। एक दिन पूर्व वह कार्यालय में आकर स्वयं को एनजीओ संचालक बताते हुए बिलारी ब्लॉक मे वैक्सीन कैंप विभिन्न ग्रामों में लगाने की अनुमति मांगने लगा। चिकित्सा अधीक्षक ने कहा कि उनके पास ऐसी अनुमति की पावर नहीं है। इस संबंध में वह सीएमओ मुरादाबाद के कार्यालय से संपर्क करें। उन पर वह दबाव बनाने लगा। इस पर उन्हें फर्जी एनजीओ होने पर शक हुआ। वह बता रहा था कि उनके द्वारा प्रति कैंप में 50 रुपये मरीज लेगे एवं उसमें से 5 रुपए प्रति मरीज आशा को देंगे। चिकित्सा अधीक्षक द्वारा इंकार करने पर कल तो वह चले गए थे। आज शुक्रवार को उन्होंने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में हंगामा किया। सरकारी कार्य में बाधा डाली। पत्र में राजकीय कार्य में बाधा डालने एवं मेडिकल प्रोफेशन एक्ट के तहत सुसंगत धाराओं में एफआईआर करने की मांग की गई। इस मोके पर चिकित्सा अधीक्षक डॉ संदीप गुप्ता , डॉ मुकेश , डॉक्टर वीके सिंह , डॉक्टर एसएम सक्सेना , डॉ मनोज कुमार शर्मा आदि के साथ अन्य स्टाफ मौजूद रहा।.. रिपोर्ट वारिस पाशा जनता की आवाज से बिलारी मुरादाबाद

Share it
Share it
Share it
Top