मेरे पैरों पर गिर पड़ा था हार्दिक

पाटीदार आंदोलन के दौरान हार्दिक पटेल के सहयोगी रहे अश्विनी पटेल ने बड़ा खुलासा किया है। जिससे सेक्स सीडी में फंसे हार्दिक पटेल के लिए असहज स्थिति पैदा हो गई है। दोस्त का खुलासा है कि हार्दिक पटेल ने उससे झूठ बोला। खुद को शादीशुदा हार्दिक ने बताया था। एक लड़की को अपनी बीवी बताकर हार्दिक ने उससे परिचय कराया था। हार्दिक की डिमांड पर उसने मसूरी के एक रिजार्ट में हनीमून के सारे बंदोबस्त किए थे।
25 अगस्त से पहले रचाई थी शादी
दिल्ली के पाटीदार अश्विन सांकडशेरिया ने हार्दिक का दावा है कि कि हार्दिक ने 25 अगस्त के पहले ही शादी कर ली थी और मसूरी की एक होटल में हनीमून मनाने गया था। अगर खुफिया एजेंसियां जांच करे तो खुलासा हो सकता है।
कनॉट प्लेस से लिए थे कपड़े
दोस्त का दावा है कि हार्दिक पटेल एक दिन दिल्ली पहुंचे। उससे मिले। साथ मौजूद लड़की को अपनी नई-नवेली बीवी बताया। कहा कि पहले बीवी के लिए कपड़े खरीदने हैं। फिर हनीमून मनाने जाना है। हार्दिक ने कथित वीवी के लिए कनॉट प्लेस से कपड़ों की खरीदी की थी। इसकी जानकारी मैंने इसके पहले IB को दी थी। आज भी यही कहता हूं कि यदि आईबी उस होटल की जांच करे, तो हार्दिक के बारे में कई खुलासे हो सकते हैं।
आरोप झूठे तो नहीं आऊंगा गुजरात अश्विन सांकडशेरिया ने ने कहा है कि हार्दिक पटेल को लेकर लगाए गए उसके आरोप अगर जांच में झूठे मिले तो वह फिर कभी गुजरात में कदम नहीं रखेंगे। अगर हार्दिक पर आरोप लगते हैं तो वे अपना ये आरक्षण आंदोलन छोड़ दे। सांकडशेरिया ने हमला बोलते हुए कहा कि हार्दिक ने समाज को गुमराह करने के सिवाय कुछ भी नहीं किया है।
मेरे पैरों पर गिर पड़ा था हार्दिक
अश्विन के मुताबिक वह आठ अगस्त को महेसाणा पहुंचे। तब अवसरा पार्टी प्लॉट के बाहर होटल में हार्दिक ने मुझसे कहा कि-आप ने अपने आगमन की मुझे खबर ही नहीं दी। तब मैंने उससे पूछा था कि तुम तो कहते थे कि तुम्हारी शादी हो चुकी है, अब क्या हुआ? तब वह मेरे पैरों पर गिर पड़ा और कहने लगा-अश्विन भाई किसी से यह मत कहना। अश्विन ने कहा कि मैं पूरे होश-हवास में हार्दिक पर यह आरोप लगा रहा हूं। समाज को धोखा देने वालों को मैं नहीं छोडूंगा। उसने समाज की प्रतिष्ठा को चोट पहुंचाई है।
हनीमून का सारा इंतजाम मैंने ही किया था
दैनिक भाष्कर में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक अश्विन ने कहा कि हार्दिक इतना ही पाक-साफ है, तो आए मेरे सामने। मेरी बात 100% सच्ची है। 2015 के मई महीने के पहले सप्ताह में आंदोलन के दो-तीन महीने पहले वह कार से दिल्ली आया था। उसके साथ सोशल मीडिया के दोस्त थे। उसने मुझसे कहा कि कपड़े की खरीदी कहां से करूं? उसने कनॉट प्लेस से अपनी 'पत्नी' के लिए कपड़े खरीदे। उसने परिचय कराते हुए कहा भी था कि यह मेरी पत्नी है। उसके बाद उसने मुझसे पूछा कि मसूरी में हनीमून के लिए कौन-सा रिजॉर्ट अच्छा है। तो मैंने उसकी पूरी व्यवस्था कर दी। मसूरी की जिस होटल में वह ठहरा था, वहां के रजिस्टर में उसके हस्ताक्षर भी हैं।
इंडिया संवाद ....


Share it
Share it
Share it
Top
To Top
Select Location