पूछती हैं बेटियाँ ....कसूर क्या है हर बार ?

पूछती हैं बेटियाँ ....कसूर क्या है हर बार ?

सुनिए सरकार ।

बेटियाँ लाचार ।।

कब तक सिलसिला ?

रहेगा बरकरार ।।

पूछती हैं बेटियाँ ।

कसूर क्या इस बार ?

कब तक मिलेगी आखिर ?

इंसाफ का इंतजार ।।

अब मोमबती नही ।

अब उठेगी मशाल ।।

सड़क से संसद तक ।

न्याय की गुहार ।।

दानवों का आखिर ।

कब होगा संहार ।।

अब निंदा नही ।

बच पाए दरिंदा नही ।।

.......अभय सिंह

Share it
Top