बढ़ गयी -बढ़ गयी भूख : कृष्णेन्द्र राय

बढ़ गयी -बढ़ गयी भूख : कृष्णेन्द्र राय

बढ़ गयी भूख ।

भईया जी अखिलेश ।।

दो रोटी ज़्यादा ।

खबर ये विशेष ।।

सीबीआई झगड़ा ।

प्रसन्नचित मुद्रा ।।

कलह सीबीआई ।

तोड़ डालो तंद्रा ।।

मिला है मौक़ा ।

निपटाओ अधूरा ।।

बोनस है दिवाली ।

फ़ायदा हो पूरा ।।

व्यंग्यात्मक लेखक:कृष्णेन्द्र राय

Share it
Share it
Share it
Top