"रघुराम राजन आ गया बयान" व्यंग्यात्मक कविता : कृष्णेन्द्र राय

रघुराम राजन आ गया बयान   व्यंग्यात्मक कविता : कृष्णेन्द्र राय


रघुराम राजन ।

आ गया बयान ।।

यूपीए को कोसा ।

सही दिया ज्ञान..? ।।

एनपीए का ठीकरा ।

दे डाला फोड़ ।।

वर्तमान सियासत ।

ली नयी मोड़ ? ।।

बैड लोन घातक ।

कसा था शिकंजा ।।

रुख था कड़ा ।

कस डाला फंदा ।।

व्यंग्यात्मक लेखक : कृष्णेन्द्र राय.....

Share it
Share it
Share it
Top