Top

व्यंग ही व्यंग - Page 2

  • यह सबको समझना चाहिए कि आग, बाढ़, दंगा, भैंसा किसी के नहीं होते...

    मेरे मित्र के गाँव में एक भैंसा हुआ करता था.. भैंसा उसी गाँव का जन्मा था या किसी अन्य गाँव से भटक कर आया था, इसकी जानकारी मुझे नहीं....मित्र की जुबानी- भैंसा फसलों को खूब नुकसान पहुंचाता और प्रवृत्ति का..बेहद हिंसक था. आस-पास के दर्जनों गांव के लोग उसके आंतक की जद में थे. कोई ऐसा सप्ताह नहीं गुजरता...

  • AAP का पार्षद ... गुलेल, बमों से ...कर दिया तबाह : अभय सिंह

    आप का पार्षद ... है ताहिर हुसैन ।।लगा कर आग ।छिन लिया चैन ।।लग गयी धारा ।केस हुआ दर्ज ।।मिल चुका सबूत ।बमों का जखीरा ।।फैला कर हिंसा ।किया था गुमराह ।।गुलेल,बमों से ।कर दिया तबाह ।।जनता कासेवक ।हरकतें हैं घिनौना ।।सरकार ले संज्ञान ।उचित हो करवाई ।।

  • सन 1398, दिल्ली! तैमूरलंग को कपिल मिश्रा ने बुलाया था।

    सन 712! मुल्तान! मोहम्मद बिन कासिम को कपिल मिश्रा ने बुलाया था। उसी के कहने पर कासिम ने लाखों लोगों को मारा।सन 1398, दिल्ली! तैमूरलंग को कपिल मिश्रा ने बुलाया था।सन 1192, मोहम्मद गोरी को कपिल मिश्रा ने बुलाया था। मेहरौली के सत्ताईस जैन हिन्दू-जैन-बौद्ध मंदिरों को कपिल मिश्रा ने तुड़वाया था।सन 1526,...

  • हमलावर प्रशांत किशोर.... अभय सिंह

    हमलावर प्रशांत किशोर ।आरोप मढ़ दिये पुरजोर ।।बताया पिता तुल्य ।मर्यादा गये वो भूल ।।नीतिश हैं पिच्छलगू ।बदल नहीं सके बिहार ।।नीतिश से हैं मुझे ।वैचारिक मतभेद ।।गिना कर खामियां ।कर दिया उजागर ।।जीतने के लिए नही ।चाहिए बीजेपी का साथ ।।आज भी न बदले है ।बिहार के हालात ।।गांधी और गोडसे चल। नहीं सकते है...

  • सिंधिया की चेतावनी

    दे दिये सिंधिया खुली ।सरकार को चेतावनी ।।घोषणा पत्र गर पूरी ।तरह न होगा लागू ।।थोड़ा रखों सब्र ।आयेगी हमारी बारी ।।पूरा नही करेंगे वादा ।प्रदर्शन की है तैयारी ।।दिलाता हूँ मैं विश्वास ।हर पल आपके साथ ।।बन कर मैं ढाल ।और तलवार ।।हर हाल में सुनेगी ।आखिर सरकार ।।तल्ख किये टिप्पणी ।अंदरूनी हालात...

  • ढूंढ रहे राहुल गांधी .... किसे हुआ है फायदा ?

    कर दिये ट्वीट ।सेना को दिया घसीट ।।उनके पराक्रम पर ।राजनीति नही ठीक ।।ओछी है ये हरकत ।ठीक नहीं है कायदा ।।ढूंढ रहे राहुल हैं गांधी ।किसे हुआ है फायदा ?सेनाओं का न हो अपमान ।मिले उन्हें भरपूर सम्मान ।।उनके मनोबल को ।मत आको कमतर ।।गिरने न दे इस तरह ।से राजनीति की स्तर ।।

  • नन्हा सा सबक... : अभय सिंह

    नन्हा सा सबक ।हमें सीख दे जाता है ।।हर दफ़ा यूँ ही बच्चे ।जीवन में पाठ पढ़ा जाते है ।।अक्सर अपनी समस्याओं के ।कारण उन्हें नजर अंदाज कर देते हैं ।।तभी तो तालमेल कभी-कभार ।यूँ ही बिगड़ जाता है ।।माना कि उम्र ढ़ल जाती है ।सहनशक्ति कम हो जाती है ।।कभी-कभार तबीयत नासाज सी लगती है भूल कर सारी बातों को...

  • जंगल कथा : रिवेश प्रताप सिंह

    शेर- क्या हुआ' तुम्हारे साहबजादे की नींद अभी पूरी नहीं हुई क्या?(खिन्न एवं क्रोधित शेर अपनी श्रीमती को घूर कर पूछा)शेरनी- ढाई बजे रात-रात तक आनलाइन रहते हैं आपके लाडले! कहां से सुबह आंख खुलेगी....शेर- इत्ती रात तक आनलाइन! लेकिन तुमको कैसे पता..शेरनी- रात को उठे रहे लघुशंका के लिये. लौट के गुफा में...

  • पोर्न साईटस .... अबिलंब हो बंद ; अभय सिंह

    पोर्न साईटस ।अबिलंब हो बंद ।।सभ्य समाज में ।कतई ना पसंद ।।पोर्न जैसी अश्लील ।इंसान रहा है लील ।।समस्त समाज को ।करना पड़ेगा पहल ।।जारी रखना होगा ।इसके प्रति अभियान ।।सरकार ले संज्ञान ।तभी होगा सफल ।।अभिभावक रखें ध्यान ।बच्चे गलत रास्तों पर न जायें ।।मोबाइल से सिर्फ करे ।प्राप्त सकारात्मक ज्ञान...

  • कोई भटका हुआ लड़का है, गोपाल!

    कोई भटका हुआ लड़का है, गोपाल! कहीं भीड़ की ओर नली कर के कट्टा दाग दिया है। लालू जी के बिहार में बचपन बीता है, सो कट्टे की औकात जानता हूँ। बचपन मे खूब कहानियां सुनी हैं, बीस फीट दूर से चले तो आदमी क्या बकरी नहीं मरेगी। देख रहा हूँ कुछ लोग भड़के हुए हैं। ये वही लोग हैं जिन्होंने दो सौ लोगों के हत्यारे के ...

  • हम असम को देश से काट देंगे...देश देख रहा है, पर चुप है

    दिल्ली के शाहीन बाग में खड़ा हो कर वह कहता है कि हम असम को देश से काट देंगे। देश देख रहा है, पर चुप है। वह कहता है कि मुर्गी का सर(पूर्वोत्तर भारत) हमारा है। शाहीन बाग में तिरंगा लेकर बैठी भीड़ उसका समर्थन करती है। बुद्धिजीविता के ठेकेदार उसका विरोध नहीं करते, वामपंथ का आधुनिक झंडाबरदार उसे अपने साथ ...

  • शारजील इमाम ... जहरीली जुबान : अभय सिंह

    शारजील इमाम । जहरीली जुबान ।।दे रहा है धमकी ।अब तो खुलेआम ।।धीरे-धीरे इनका ।खुल रहा है राज ।।काट कर असम ।कर देंगे अलग ।।पटरी पर डालो मवाद ।हट सके महिनों के बाद ।।उचित हो कारवाई ।फिर से न कोई भी ।।दुबारा न इस तरह की ।कोई भी हरकत कर पाये ।।

Share it