Breaking News

कठिन सुधारों के बाद सही दिशा में बढ़ रही अर्थव्यवस्था: मोदी

कठिन सुधारों के बाद सही दिशा में बढ़ रही अर्थव्यवस्था: मोदी

विपक्ष की ओर से सरकार की आर्थिक नीतियों की आलोचना किये जाने के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज एक बार फिर जोर देकर कहा कि कठिन सुधारों के बाद अर्थव्यवस्था पटरी पर लौट रही है और सही दिशा में आगे बढ़ रही है. उन्होंने कहा ,''हमने कड़े फैसले लिये हैं और ऐसा करना जारी रखेंगे.'' गुजरात के दाहेज में एक रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि बहुत से अर्थशास्त्री इस बात पर सहमत हैं कि अर्थव्यवस्था की बुनियाद मजबूत है. हमने अर्थव्यवस्था के लिए कड़े फैसले लिए हैं. राजकोषीय स्थिरता को कायम रखते हुए हम ऐसा करना जारी रखेंगे. प्रधानमंत्री का यह बयान ऐसे समय में सामने आया है कि जब विपक्षी दल नोटबंदी और जीएसटी के मुद्दे पर सरकार पर निशाना साध रहे हैं.

आयकर विभाग नहीं करेगा परेशान

मोदी ने अपनी यात्रा के दौरान कारोबारियों तक पहुंच बनाने का प्रयास करते हुए कहा कि अगर वे जीएसटी की व्यवस्था में अपना पंजीकरण कराते हैं और औपचारिक अर्थव्यवस्था का हिस्सा बनते हैं तो आयकर विभाग उनके पूर्व के रिकार्ड की जांच करने के बहाने उन्हें परेशान नहीं करेगा.

उन्होंने कहा, ''सभी सुधारों और कठोर निर्णयों के बाद देश की अर्थव्यवस्था पटरी पर आई है और अब सही दिशा में बढ़ रही है.'' मोदी ने कहा, ''अगर हम हाल के आंकड़ों पर नजर डालें तो कोयला, बिजली, प्राकृतिक गैस और अन्य चीजों का उत्पादन काफी बढ़ा है. देश में विदेशी निवेश रिकॉर्ड स्तर पर है. देश का विदेशी मुद्रा भंडार 40 हजार करोड़ डॉलर हो गया है.''

उन्होंने कहा, ''हमने सुधार की दिशा में महत्वपूर्ण कदम उठाए हैं और यह प्रक्रिया जारी रहेगी. सुधारों के जरिये रोजकोषीय स्थिरता कायम रखी जायेगी. हम देश के आर्थिक विकास के लिये निवेश आमंत्रित करने की दिशा में कदम उठा रहे हैं.'' उल्लेखनीय है कि कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी हाल के गुजरात दौरे के दौरान अर्थव्यवस्था को लेकर मोदी सरकार पर निशाना साधते रहे हैं.

कोई कारोबारी कर चोरी नहीं करना चाहता

जीएसटी का उल्लेख करते हुए मोदी ने कहा कि इस व्यवस्था से जुड़ने वाले कारोबारियों की संख्या दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है. पिछले कुछ महीनों में 27 लाख अतिरिक्त लोगों ने इस अप्रत्यक्ष कर व्यवस्था में पंजीकरण कराया है. कोई कारोबारी कर चोरी नहीं करना चाहता है. कर संबंधी नियम, प्रणाली और कर अधिकारी और यहां तक राजनेताओं के कारण वे ऐसा करने को विवश होते हैं.

उन्होंने कहा कि जीएसटी के कारण नाका पर भ्रष्टाचार रूका है. मैं आश्वस्त करता हूं कि किसी अधिकारी को पिछले रिकार्ड को खोलने की अनुमति नहीं दी जायेगी.

परियोजनाएं पूरा करने पर दिया जा रहा जोर

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने देश में एक नयी कार्य संस्कृति तैयार की है, जो जवाबदेह और पारदर्शी है. इसी कार्य संस्कृति की वजह से योजनाओं पर काम हो रहा है. दोगुना गति से सड़कें बन रही हैं, दोगुना गति से रेल लाइनें बन रही हैं. योजनाओं को समय पर पूरा करने के लिये ड्रोन से निगरानी की जा रही है.

मोदी ने कहा, ''सरकार की कार्य संस्कृति में बदलाव लाया गया है. ऐसी कार्य संस्कृति तैयार की गई है जो गरीबों और मध्यम वर्ग को तकनीकी मदद से उनका हक दिला रही है.'' उन्होंने कहा कि खोज-खोज कर फाइलें निकाल रहा हूं और जो परियोजनाएं दशकों से अटकी हुई हैं उन्हें पूरा कर रहा हूं.

Share it
Top