Breaking News

पुरी में भूस्खलन, साड़े तीन लाख लोगों को सुरक्षित स्थान में भेजा

पुरी में भूस्खलन, साड़े तीन लाख लोगों को सुरक्षित स्थान में भेजा

चक्रवाती तूफान फानी का असर ओडिशा में दिखने लगा है। पुरी के तटों में भूस्खलन शुरू हो गए हैं। पुरी के तटों पर तेज हवाओं के साथ बारिश हो रही है। हजारों लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेज दिया गया है। आपदा प्रबंधन की टीम तूफान से निपटने के लिए तैयार है। फानी की वजह से रेल,सड़क और हवाई यातायात पर प्रभाव पड़ा है। ओडिशा के तटीय क्षेत्रों में तेज हवाओं के साथ बारिश शुरू हो गई है। तूफान का असर दक्षिण बंगाल में भी देखा जा रहा है। भारी बारिश और तेज हवाआों के चलते कई पर्यटक बुरी तरह से फंस गए हैं।

LIVE Upsates:

- ओडिशा के पुरी तट में भूस्खलन शुरू हो गए हैं। चक्रवात तूफान फानी के चलते तटीय क्षेत्रों में तेज हवाओं के साथ बारिश हो रही है।

- पश्चिम बंगाल के दीघा में तेज हवाओं के साथ बारिश शुरू हो गई है। चक्रवात तूफान फानी के चलते ओडिशा में 11 बजे तक कई जगहों पर भूस्खलन हो सकता है, वहीं कई जगहों पर भूस्खलन शुरू भी हो गए हैं।


ओडिशा के पुरी में तेज हवाओं के साथ बारिश शुरू हो गई है।


चक्रवात तूफान के चलते ओडिशा में रेल सेवा बाधित हो गई है। ईस्ट कोस्ट रेलवे ने आज 10 ट्रेनों को और रद कर दिया है। बता दें कि रेलवे ने इसके पहले 1 से 3 मई तक कुल 147 ट्रेनों को रद किया था।

- चक्रवात तूफान फानी से निपटने के लिए पश्चिम बंगाल भी पूरी तरह से अलर्ट हो गया है। कोलकाता के बिचाली घाट में आपदा प्रबंधन की टीम अभी से अलर्ट पर है। बता दें कि चक्रवात तूफान फानी का असर ओडिशा के पुरी में देखा जाएगा।

- मौसम विभाग के अनुसार चक्रवात तूफान फानी के उत्तर-पश्चिम की ओर आगे बढ़ने की संभावना है और शनिवार की शाम तक यह चक्रवाती तूफान बांग्लादेश में प्रवेश कर सकता है।

- मौसम विभाग के अनुसार चक्रवाती तूफान फानी आज दोपहर तक ओडिशा के तटीय क्षेत्रों से टकराएगा। तूफान के चलते तेज हवाओं और बारिश के साथ ही यह धीरे-धीरे उत्तर-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ेगा और फिर धीरे-धीरे चक्रवात तूफान फानी कमजोर हो जाएगा। इसके साथ ही मौसम विभाग ने बताया कि चक्रवात तूफान फानी शनिवार की सुबह तक और भी तेज होते हुए यह तूफान पश्चिम बंगाल पहुंचेगा।

- तूफान का असर दक्षिण बंगाल में भी देखा जा रहा है। भारी बारिश और तेज हवाआों के चलते कई पर्यटक बुरी तरह से फंस गए हैं। तूफान में फंसे पर्यटकों को निकालने के लिए दक्षिण बंगाल राज्य परिवहन निगम (SBSTC) ने दीघा से 50 बसों का संचालन शुरू किया है। दीघा में फंसे हुए पर्यटकों को निकालने के लिए बसों का संचालन सुबह पांच बजे से शुरू कर दिया गया है।

- गंजम जिले के डीएम ने बताया कि चक्रवात तूफान फानी से बचने के लिए अब तक 301460 लोगों को सुरक्षित स्थानों में भेज दिया गया है। वहीं, 541 गर्भवती महिलिओं को सावधानी पूर्वक अस्पताल में पहुंचाया गया है।

Share it
Top