Read latest updates about "संपादकीय"

  • मुलायम सिंह, एक नाम जो बना एक विचारधारा , और कैसे हुयी थी परिवार में रार

    मुलायम सिंह यादवमुलायम सिंह यादव का जन्म उत्तर प्रदेश के इटावा जिले के सैफई में 22 नवम्बर, 1939 को हुआ था. इनके पिता का नाम सुघर सिंह और माता का नाम मूर्ति देवी है. मुलायम सिंह ने आगरा विश्वविद्यालय से स्नातकोत्तर (एम.ए) एवं जैन इन्टर कालेज करहल (मैनपुरी) से बी0 टी0 की शिक्षा हासिल की. इसके बाद कुछ...

  • जनता की आवाज़ से जुडी खबरें पाए अपनी timeline पर

    जनता की आवाज़ से जुडी खबरें पाए अपनी timeline पर भाजपा से सम्बंधित ख़बरें : http://www.jantakiawaz.org/redirect-with-tracking-id?url=http://admin.jantakiawaz.org/subscribe_confirm.jsp?groupIds=122पूर्वांचल की खबरें :...

  • १० फ्री tools जो जरुरत है हर पब्लिशर की

    कंटेंट इस किंग - ऐश बाबा ये सभी मानते हैं पर क्या आप इस विचारधारा को ईमानदारी से निभाते हैं?अगर नहीं तो जाने ये फ्री १० tools जो आपको मदद करेंगे अच्छा और सुसयोजित CONTENT लिखने में.(अगर आपको ज्यादा जानकारी चाहिए तो कांटेक्ट करे HOCALWIRE http://hocalwire.com) गूगल ट्रेंड्स - गूगल ट्रेंड्स पर...

  • वैज्ञानिक विचारधारा, कराती रही धार्मिक भूल - अतुल अंजान

    CPI एकमात्र पार्टी है जो वैज्ञानिक विचारधारा रखती है, बाकी सभी पार्टिया हमेशा धर्म का दामन थाम कर चलती है. लेकिन CPI हमेशा धार्मिक भूल करती रही है - अतुल अंजान अतुल अंजान जी से बात करते हैं हुए उन्होने माना की कई ऐसे मौके इतिहास ने CPI को दिए जिससे वो शायद देश के विकास में ज्यादा सहयोग कर सकते...

  • Happy Mothers Day !!!

    Janta Ki Awaz wishes all Mothers a very HAPPY MOTHERS DAY.

  • भारत में कैशलेस अर्थव्यवस्था - सम्भावना या सच?

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जब 8 नवंबर 2016 की रात को जब अचानक 500 और 1000 रूपये के नोटों को बंद करनेकी घोषणा की तो भारत के आर्थिक परिदृश्य में कई परिवर्तन आने लगे| अगले दिन यानि 9 नवंबर से ही बैंकों औरएटीएमों के सामने लम्बी लाईनें दिखने लगीं, लोग अपने रुपयों को लेकर आशंकित हो उठे, बाजार में मंदी...

  • सर्वे: आप भी दें नोटबंदी पर अपनी राय

    इस समय प्रत्‍येक भारतीय नोटबंदी के अलावा कोई और बात नहीं कर रहा है। इस मुद्दे ने हर किसी को प्रभावित किया है। भले ही सरकार कहती है कि नोटबंदी और 2000 व 500 के नये नोट आने से लंबी अवधि में देश को फायदा होगा, जबकि सच तो यह है कि इससे जुड़ी ढेर सारी शिकायतें देश भर से मिल रही हैं। हर कोई अपनी बात रख...

Share it
Share it
Share it
Top