Read latest updates about "भोजपुरी कहानिया" - Page 2

  • डिजिटल कलेजा

    पंचतंत्र की कहानियों में बंदर और मगरमच्छ की कहानी तो सभी ने पढ़ी या सुनी होगी। मगरमच्छ की पत्नी द्वारा उसके मित्र बंदर के दिल खाने की इच्छा और बंदर द्वारा मगरमच्छ को बेवकूफ बनाने पर उसकी पत्नी द्वारा दिए जाने वाले ताने.....नदी के किनारे आने पर बंदरों के झुण्ड द्वारा दगाबाज, विश्वासघाती जैसे तंज,...

  • कथा नहीं, इतिहास "त्याग"

    भाद्रपद की काली अंधेरी रात, आँधी के साथ मिलकर बारिश ने इस रात्रि को और भी भयानक बना दिया था। बन्दीगृह में खिड़कियों से छन कर आती हवा सभी प्रहरियों को मीठी नींद में सुला गयी थी। बन्दीगृह के किंवाड़ से लग कर सोये प्रहरी की कमर से ताली का गुच्छा खींच कर बन्दी ने चुपचाप ताला खोला और धीरे से कहा- अब...

  • शर्मा जी घर में चूहों से बहुत परेशान....

    वैसे चूहे होते भी विचित्र हैं.. ये अपने खाने के अतिरिक्त, मानव जाति के प्रयोग होने वाले उन संसाधनों पर भी दखल रखते हैं जिससे न तो उनका सरोकार है और न कभी उनके पुरखों का रहा। कभी आप चूहे की बिल खोदे तो आप पायेंगे कि चूहे ऐसी भी चीजें बिल में घुसेड़ ले गया जो उसके किसी काम की नहीं.. मसलन-...

  • सुनो तिवाराइन !

    तुमको क्या लगता है ? तुम हमारी मासूम मोहब्बत के फरकच्चे उड़ाते जावोगी और हम अपनी शुद्धता का प्रमाण देते फिरेंगे ?? तुम कौन भरम पाल रही हो आजकल , या फिर हम ही गफलत गले से लगा बैठे हैं ?हमको तनिक भी तुम्हारा ई फरेबी चाल चलन न सुहा रहा... ई जो पहले जी ललचा के और अब चकमा पर चकमा दिए जा रही हो न तो हमारा...

  • भचकन बाबा.... रिवेश प्रताप सिंह

    दोनों पैरों की लम्बाई में दू सूत के अन्तर ने गोधन नाम को बदलकर कब भचकन कर दिया, यह गोधन खुद भी नहीं जान पाये। रोज अखाड़ा में पहलवानों को 'वाह ..पठ्ठे वाह!' ललकारने और अपने शरीर पर माटी पोत कर चार ठो दण्ड बैठक मारने से भचकन कब 'भचकन पहलवान' का दर्जा पा लिये यह भी एक रहस्य ही था। भचकन निठल्लों के...

  • फिर एक कहानी और श्रीमुख."अधूरा वादा"

    खेत में दस मिनट की देरी से पहुँचे टिकाधर काका को देख कर मनोजवा बो ने टिभोली मारा- कहाँ थे काका? बिरधा पिनसिम के पइसा से ताड़ी पीने नही नु गए थे?काका ने छूटते ही जवाब दिया- गए थे तोरा माई से बियाह करने! पतोहि हो के ससुर से ठिठोली करते लाज नही आती रे बुजरी की बेटी?खेत में सोहनी करती सभी बनिहारिने...

  • डिजिटल कलेजा ..........रिवेश प्रताप सिंह

    पंचतंत्र की कहानियों में बंदर और मगरमच्छ की कहानी तो सभी ने पढ़ी या सुनी होगी। मगरमच्छ की पत्नी द्वारा उसके मित्र बंदर के दिल खाने की इच्छा और बंदर द्वारा मगरमच्छ को बेवकूफ बनाने पर उसकी पत्नी द्वारा दिए जाने वाले ताने.....नदी के किनारे आने पर बंदरों के झुण्ड द्वारा दगाबाज, विश्वासघाती जैसे तंज,...

  • आलोक पुराण ८ (चरण-लुटैया छंद)

    सावन के महीने में मौसमी आतंक अपने चरम पर है। राजनेताओं के विवादित बयान की तरह कभी भी बरस जाने वाली बूंदों के साथ जब पुरुआ हवा महागठबंधन बना लेती है तो नवजोत सिंह सिद्धू की तरह डोलने लगता है आलोक पाण्डेय का मन। सावन के महीने में बबिता की याद उनके दिल को कबूतर बना देती है,जो चौबीसों घंटे फुदकता रहता...

  • पगहा काण्ड...... आलोक पाण्डेय

    आज सुबह मैं एक सपना देखा कि सर्वेश बाबू एक हाथ में तीर आ दूसरका हाथ में ललटेन लिए मेला में भुलाइल धनिया जैसे एने ओने भटक रहे हैं।थोडा करीब आ केकानों में तेरे धीरे से एक बात कहूँमने थोड़ा पास जाके देखा तो उनके गरदन में एकठो बरियार गाइ का पगहा भी लटक रहा था। आहि ए बरम बाबा ई कवन रूप धारण किए है ई...

  • कन्या क्या थी, पूरा भूकम्प, नीरज मिश्र उसके भक्त हो गए

    नीरज मिश्र का सौन्दर्य उस कोटि का था जिसे देख कर लड़कियां तो लड़कियां, लड़के तक हाय-हाय करने लगते थे। वे जब चलते तो लगता जैसे कोई मदमत्त गदहा लताड़ मारते हुए चल रहा हो। जब हँसते तो लगता जैसे डेढ़ सौ नृत्यांगनाओं ने मालकौंस के राग पर एक साथ अपनी पायलें खनका दी हों। बड़ी बड़ी और नशीली आँखों को देख कर लगता...

  • हसिहहिं कूर कुटिल कुबिचारी : आलोक पाण्डेय

    नल पर के नहान वाला भिडिओ के अपार सफलता से गील हुआ, ऊ हीरउवा सुने हैं कि ए बेरी साइकिल पर से भदाक सेना गीरा है। ई घटना इस बात को सीध करता है कि बिहार एक गरीब प्रांत है, आतना गरीब प्रांत है कि उहां के मुख्यमंत्री रहि चुकी माई आ मुख्यमंत्रिए रहि चुके बाप के सफल चारा घोटाला कांड के बादो अतना रुपिया...

  • जगरानी ने अपना बेटा खो दिया था, वे जैसे जड़ हो गयी

    साँझ की बेला में दुआर बुहारती जगरानी के आसपास जब लोगों की भीड़ खड़ी होने लगी तो अशुभ की आशंका से उनका हृदय काँप उठा। उन्होंने सर उठा कर कुछ लोगों का मुह निहारा, सबके मुखड़े जैसे रो रहे थे। एकाएक सन्न हो उठे कलेजे को थाम कर उन्होंने पूछा- क्या चन्दू को पुलिस ने पकड़....?कहीं से कोई उत्तर नहीं मिला।...

Share it
Share it
Share it
Top