Read latest updates about "भोजपुरी कहानिया" - Page 1

  • काका, ई कश्मीरियत का होत है हो?

    गांव में सबसे गियानी बुझे जाने वाले बटेसर पांडे से कमलेशवा ने कोसचेन किया- काका, ई कश्मीरियत का होत है हो?काका ने ठेंठ साहितकारी इस्टाइल में एक मिनट में पौने दो सौ किसिम का मुह बनाने के बाद जवाब दिया- बेटा, कश्मीरियत किसी नेता का इमान है, कश्मीरियत अदालत का न्याय है, कश्मीरियत वकील का सत्य है,...

  • बिहार में बहार है प्रताप कुमार हैं

    एक फिल्म आई थी , राम तेरी गंगा मैली । मंदाकिनी ने गंगा का किरदार निभाया था । फिल्म में कुछ बोल्ड सीन लिए गए थें । शायद उस समय अश्लीलता इतनी मुखर नही थी अन्यथा ये फिल्म अपने जमाने की भी अश्लील फिल्म हो जाती उस एक दृश्य से । अपने बिहार में दो दिनों से ठीक वैसे ही एक बोल्ड दृश्य की चर्चा हो रही है ।...

  • छोटी सी बिंदिया क्यों ऐसे ही शर्मा जाती है? : जे पी यादव

    एक काम करो तुम, अपनी बिंदिया को माथे से लगा कर खुद को शीशे में देखो तो जरा. क्‍या तुम्‍हें भी वो लाज से भरी हुई नजर आती है? क्‍या वो अक्‍सर ऐसे ही शर्मा जाती है? पूछो उससे ऐसा क्‍यों है कि जब मैं तुम्‍हारी तारीफ करता हूं तो वो खुद पर ले लेती है. हर तारीफ के साथ तुम्‍हारे चेहरे पर अपनी एक अगल छाप...

  • हमने सनम को खत लिखा....

    कल आइ आइ टी परिसर में घूमते हुए फोटोखिंचाई हुई। फोटो कई बार बहुत सारे शब्दों का विकल्प होते हैं। पहले चिट्ठियाँ भी लिखी जाती थीं...अंतिम टैग लाइन थोड़ा लिखना ज्यादा समझना! कुछ इस तरह ही ब्लॉग,पोस्ट,ट्वीट में टाँगखिचाई के लिए भी मेरी तरफ से फोटूखिचाई चलती है। ...पोस्ट बॉक्स की यह कूड़ेदान जैसी...

  • पून्नू पंडित ..........: रिवेश प्रताप सिंह

    आंगन के चारो ओर सटा बरामदा और पूरब तरफ के बरामदे में किनारे, पीढ़ा पर बैठकर मनोहर मिसिर आम के रेशे रेशे में घुसकर मिठास की अन्तिम पड़ताल में लगे थे। यहाँ तक की गुठलियों नें अपनी दाढ़ी तक उनके हवाले कर दी लेकिन मजाल क्या है कि गुठली के दाढ़ी में रंच मात्र भी मिठास और पीलापन बचा रह जाये। कुतरने, सुड़कने,...

  • बबिता कुमारी मरखहवा माटसाब और परीक्षा वाला प्यार

    किसी मरखहवा माटसाब के जबरदस्त कुटाई के बाद आमतौर पर लड़कों में दो तरह के मानसिक परिवर्तन दिखते थे, या तो वो लड़का इंजीनियर या डॉक्टर बनने का सपना अपने भीतर धान नियुत रोप लेता था या हमारे जैसा लड़का थेथर हो जाता था। लड़कियों में कुछ खास परिवर्तन नहीं दिखते थे, क्योंकि वो अपनी मधुर आवाज, नेल पोलिश के...

  • फिर एक कहानी और श्रीमुख "भद्रं कर्णेभिः शृणुयाम देवा"

    पिछले कुछ दिनों से पोस्टऑफिस चौक से गुजरते समय उनके नथुनों में हवन की घिवाह गंध घुसने लगती थी। वह आँखे बंद कर एक लंबी साँस भर कर उसे अपने अंदर उतार लेता, फिर मुस्कुराते हुए कोचिंग सेंटर की ओर निकल जाता। फिर दिन भर गोपालगंज की सड़कों पर वह महकता फिरता...

  • सुनो न भउजी,.....किसी ने कहा कि मैं तुमपर लिखूं

    किसी ने कहा कि मैं तुमपर लिखूं। अब तुम ही बताओ न कि क्या लिखूं। तुम्हारे अधरों को देख कर मेरी दशा उस किसान के जैसी हो जाती है जिसके खेत की फसल सूख रही हो, और अंतिम आश के साथ बादल की ओर टकटकी लगा कर देखती उसकी आँखें कुहुक कर कहें- आह! बरस जा रे देव... बस एक्को बून्द...! एक मरते ब्राह्मण की...

  • विवाह, एक जोड़े का नही समाज का बंधन

    भोजपुरी समाज, या यूं कहें सम्पूर्ण उत्तर प्रदेश और बिहार समेत हिन्दी पट्टी... हमारे पूर्वजों ने विवाह संस्कार को इस तरीके से बनाया जिसमे, विवाह में मात्र दो व्यक्तियों का रिश्ता नही होता अपितु, दो परिवारों... दो खानदानों यहां तक कि दो गाँवों का रिश्ता हो जाता है... प्राचीन काल में जब प्रभु श्रीराम...

  • पुरुआ की भोजपुरी फ़िल्म लघु फ़िल्म "दहेज" रिलीज....

    पिछले कुछ वर्षों में फिल्म उद्योग में व्यवसायिकता ने अपनी कालिमा कुछ इस प्रकार बिखरी है कि एक समय जो भोजपुरी फिल्म जगत अपनी सांस्कृतिक, पारिवारिक व सामाजिक मूल्यों के लिए जाना जाता था, घर की महिलाओं को सिनेमाघरों में आने को बाध्य कर देता था, अब अश्लीलता और फूहड़ता की स्याह चादर में ढंक गया है ।...

  • रामचरितमानस का कलियुग

    कागभुशुण्डि जी से गरुण जी ने पूछा- कारन कवन देह यह पाई। तात सकल मोहि कहहु बुझाई।।कि किस कारण से आप यह कौए का शरीर पाए हैं, वह मुझे समझा कर कहिए?भुसुण्डी जी बोले-एहि तन राम भगति मैं पाई। ताते मोहि ममता अधिकाई।।इसी शरीर से मुझे राम-भक्ति मिली इसीलिए इससे मोह अधिक है। हे पक्षीराज, आपके...

  • "तलवार"

    लगभग 1300 बर्ष पुरानी बात है, बर्तमान पाकिस्तान का सप्तसैंधव प्रदेश अभी अरबी आक्रांताओं से पददलित नही हुआ था। सिंधु,विपाशा, शतद्रु आदि नदी तट के वनो में ऋषि पुत्रियों द्वारा उच्चारित वेद मंत्र सिंहों की गर्जना के साथ मिल कर वन प्रान्तर में ऊर्जा का संचार करते थे। आर्यों की इस भूमि पर आक्रमण कर के...

Share it
Share it
Share it
Top