रक्षाबंधन: इस बार नहीं है भद्रा, पूरे दिन बांधी जा सकेंगी राखी

लेख

रक्षाबंधन: इस बार नहीं है भद्रा, पूरे दिन बांधी जा सकेंगी राखी

ज्योतिषाचार्य पुरुषोत्तम गौड़ के मुताबिक तीन साल बाद ऐसा संयोग बना है. उन्होंने बताया कि चौघड़िया के अनुसार राखी बांधने का श्रेष्ठ मुहुर्त सुबह 11 बजे से दोपहर 1.30 बजे तक और शाम 5 से 8 बजे तक रहेगा. इस बार रक्षाबंधन पर सिंहासन योग और गौरी योग रहेगा. जो भाई-बहन के संबंधों में मिठास लाएगा. इस दिन भद्रा सूर्योदय से पूर्व ही समाप्त हो जाएगी. और श्रावणी पूर्णिमा बुधवार रात 10.27 से अगले दिन रात 8.53 बजे तक होगी.

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने दी शुभकामनाएं:

मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने रक्षाबंधन (18 अगस्त) के पवित्र त्यौहार पर प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं दी हैं. राजे ने अपने संदेश में कहा कि रक्षाबंधन का त्यौहार न केवल भाई-बहन के पवित्र प्रेम का पर्व है, बल्कि यह नारी की अस्मिता और उसके विश्वास का प्रतीक भी है. यह पर्व हमें स्त्री के सम्मान के प्रति वचनबद्ध करता है. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार महिलाओं की सुरक्षा एवं उनके सशक्तीकरण के प्रति कृत संकल्प है. मुख्यमंत्री ने अपील की कि रक्षाबंधन के पर्व पर हर पुरूष यह संकल्प ले कि वह प्रत्येक महिला का सम्मान करेगा. राजे ने कहा कि प्रत्येक व्यक्ति में रक्षा का भाव होना चाहिए ताकि वह न केवल मानव जाति बल्कि प्रकृति की भी सुरक्षा के प्रति सचेत हो.

loading...

Similar Posts

Share it
Top