• जानिए वाहन दुर्घटना मुआवजा : वासुदेव यादव

    जानिए वाहन दुर्घटना मुआवजा : वासुदेव यादव

    मुआवजा क्या है-किसी व्यक्ति या संपत्ति को नुकसान पहुंचाने पर जो राशि दी जाती है उसे मुआवजा कहते हैं। मुआवजे का दावा कौन कर सकता है-वह व्यक्ति जिसे चोट आई है यासंपत्ति का मालिक यामृतक(जहां मृत्यु हुई हो) उसके सगे-संबंधी या कोई भी कानूनी प्रतिन...

    2017-08-11 00:57:57.0
  • समाजवादी दीपक आजाद को हेमंत पंडित की विनम्र श्रद्धांजलि

    समाजवादी दीपक आजाद को हेमंत पंडित की विनम्र श्रद्धांजलि

    22 जुलाई को अंतिम बार मुलाकात हुई थी लेकिन ये नही पता था की ये आखिरी मुलाकात होगी। पार्टी कार्यालय में गए थे अखिलेश भईया से मुलाकात करने लेकिन अतुल भईया की फ्लाइट मिस हो गयी और मुलाकात नही हो पायी,युथ कार्यालय में बायोडाटा जमा किया था पूर्व में जिला ...

    2017-08-10 07:39:02.0
  • कजली तीज: सुंदर वर पाने के लिए आज कुंवारी युवतियां रखेंगी व्रत, जानें इसका महत्व और पूजन विधि

    कजली तीज: सुंदर वर पाने के लिए आज कुंवारी युवतियां रखेंगी व्रत, जानें इसका महत्व और पूजन विधि

    पांचवे माह भादों के कृष्ण पक्ष की तीज को कजली तीज के रूप में मनाया जाता है। आज के दिन शादीशुदा महिलाएं और कुंवारी लड़कियां व्रत करती हैं जो कि उनके लिए बहुत महत्वपूर्ण माना जाता है। इस दिन पत्नी अपने पति की लंबी उम्र के लिए उपासना करती हैं। ...

    2017-08-10 02:36:08.0
  • शिक्षा विभाग और राजनीति

    शिक्षा विभाग और राजनीति

    उत्तर प्रदेश हो या बिहार दोनों प्रांतों के सरकारों के लिए यदि कोई विभाग टार्गेट पर रहता है तो वह है शिक्षा विभाग ।इन दोनों प्रांतो में यही एक विभाग है जो जनता और सरकार की आँखो में खटकता रहता है ।रही बात बिहार की तो जब लोकसभा या विधान सभा का चुनाव आता...

    2017-08-09 07:54:27.0
  • भारत को जितना गंगा ने देखा उतना क्या किसी ने देखा ...

    भारत को जितना गंगा ने देखा उतना क्या किसी ने देखा ...

    कल शाम को अकेले अस्सी घाट पर बैठे थे। अकेलापन भी कभी कभी बहुत सुकून देता है।सब जोड़े में थे, सो एक दूसरे में व्यस्त थे, मैं अकेला था, सो गंगा को निहार रहा था। गंगा माँ है, व्यक्ति अपने जोड़ीदार से ऊब सकता है, पर माँ बेटे को ऊबने नहीं देती। मैं ...

    2017-08-08 13:00:11.0
  • बदलते दौर में बेहद याद आएंगे जनेश्वर मिश्र
 : उमेश चतुर्वेदी

    बदलते दौर में बेहद याद आएंगे जनेश्वर मिश्र : उमेश चतुर्वेदी

    1989 के आम चुनावों के नतीजे आने शुरू हो गए थे। कांग्रेस विरोधी लहर की अगुआई कर रहे वीपी सिंह के अपने गृह इलाके इलाहाबाद से जिस सज्जन को जनता दल ने मैदान में उतारा था, शुरूआती दौर में तब की कांग्रेसी उम्मीदवार से वह पिछड़ रहा था। इलाहाबाद संसदीय सीट क...

    2017-08-05 02:36:08.0
  • 'भोजपुरी बिरोध का मिनी स्कर्ट' आज कल किसने पहना है ?

    आधुनिक हिंदी के साहित्यकारों द्वारा भोजपुरी को दबाने का प्रयास वैसे तो बहुत पुराना है, पर पाठकों का टोटा झेल रहे वर्तमान साहित्यारों द्वारा भोजपुरी का मुखर विरोध आज कल जबरदस्त फैशन बन चूका है। पिछले कुछ दिनों से 'भोजपुरी बिरोध का मिनी स्कर्ट' बारी बा...

    2017-07-26 15:31:34.0
  • बुद्ध और शंकर

    बुद्ध और शंकर

    बुद्ध और शंकर - भारतीय परंपरा के ये दो विपरीत ध्रुव हैं, लेकिन उनकी धुरी एक ही है! बुद्ध "प्रच्छन्न वेदान्ती" थे.शंकर "प्रच्छन्न बौद्ध"! और इनकी धुरी की थाह पाने की कुंजी है सनातन मेधा का सगरमाथा : "मंडूक्योपनिषद्"!##"मंडूक्योपनिषद्" सभी...

    2017-07-25 06:34:00.0
Share it
Share it
Share it
Top
To Top
Select Location